Nature( प्रकृति)

ये क्या चल रहा है चारो ओर. प्रकृति(nature) का ये रूप क्यूँ दिख रहा है, last year से corona ने घर पे बिठा रखा है. लोग मारे जा रहे हैं, इस साल भी हालात same है. क्या earth की age ख़त्म हो रही है? क्या इसके ज़िम्मेवार हम हैं? सायद हाँ… हमने अपनी सुविधा, अपनी ज़रूरतों के लिए इसे इतना बदला, की अब इसे लगा, हमें सबक सिखाने के लिये कुछ करना पाड़ेगा. वरना हम रुकने वाले कहाँ हैं. हमें लगता है हमने जो किया इसे ही development कहते हैं, जो ज़रूरी है वो तो करना ही है और वही किया भी, अब हम ये तो देख ही रहे हैं, जगह जगह प्रकृति अपने तेवर दिखा रही है. 2020 से ये हमें बदले रूप में दिख रही है. 2021 की जुलाई तो पूरे दुनियां में तबाही मची है. कहीं flood तो कहीं landslide कहीं forest fires….पहाड़ों पे रास्ते बनाने में सालों लगते हैं एक landslide हुआ की सब खतम, forest fires तो पहले भी होता था मगर आजकल वो भी अपना रूप विकराल कर चुकी है. बारिस भी इतनी होती है कि big cities के बुरे हाल हो जाते हैं. अभी भी समय है earth को बचाने के लिये … अभी भी देर नही हुई है, वैसे हमलोग हर मुमकिन कोशिस तो कर रहे हैं. But हमें और हम सब को मिल के तय करना है. इस दिन ब दिन बढ़ती तबाही को रोके कैसे. इस अन्त को थोड़ा पीछे धकेले और आने वाली पीढ़ी के लिए कुछ अच्छा करें. सब मिल के इसपर विचार करें, कुछ तुम करो कुछ हम करें, सब मिल के ठान लें तो सायद मुमकिन हो. 🤘😇

Published by daisy

I love to travel and collect souvenir. Photography and singing is my hobby, I collect natures picture 🏝

4 thoughts on “Nature( प्रकृति)

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Create your website with WordPress.com
Get started
%d bloggers like this: